New page
img
मुनि श्री प्रमाणसागर जी
img
img

श्री 1008 सिद्धचक्र महामण्डल विधान
एवं विश्व शांति महायज्ञ

16 मार्च से 23 मार्च 2016 तक

तहसील दांता जिला सीकर

परमपूज्य आचार्य श्री विद्यासागर जी महामुनिराज के मंगल आशीष से मुनिश्री ससंघ के सानिध्य में दिनांक 16 मार्च से 23 मार्च 2016 तक तहसील दांता जिला सीकर में श्रीसिद्धचक्र महामणडल विधान एवं विश्व शांति महायज्ञ का आयोजन अभूतपूर्व धर्म प्रभावना के साथ सम्पन्न हुआ. क्लिक करें
भव्य पिच्छिका परिवर्तन समारोह
29 नवम्वर 2015
 

श्री सेवायतन एवं गुणायतन वार्षिक अधिवेशन
28 नवम्वर 2015

 
श्री 1008 सिद्धचक्र महामण्डल विधान
एवं
विश्व शांति महायज्ञ
18 नवम्वर 2015 से 25 नवम्बर 2015 तक
 
संस्कारों का शंखनाद:
युवतियों के लिए विशेष संस्कार कार्यशाला
दिनांक 18 अक्टूबर 2015
 
संस्कारों का शंखनाद:
किशोरों के लिए विशेष संस्कार कार्यशाला
दिनांक 11 अक्टूबर 2015
 
पर्य़ूषण महापर्व एवं श्रावक संस्कार शिविर
17 सितम्बर 2015 से 27 सितम्बर 2015 तक
 
णमोकार महामंत्र कोटि जाप्यानुष्ठान
5 सितम्बर 2015 से 10 सितम्बर 2015 तक
 
विश्व व्यापी धर्म बचाओ आन्दोलन
24 अगस्त 2015
 

24 समवशरण महामण्डल विधान
एवं
पिच्छिका परिवर्तन समारोह
26 दिसंबर 2014 से 31 दिसंबर 2014 तक

गुणायतन श्रीसम्मेद शिखरजी

सानंद सम्पन्न

पूज्य मुनि श्री प्रमाणसागर जी महाराज एवं पूज्य मुनि श्री विराटसागर जी महाराज, ससंघ के मंगल सानिध्य में 26 दिसंबर 2014 से 31 दिसंबर 2014 तक 24 समवशरण महामण्डल विधान
एवं
पिच्छिका परिवर्तन समारोह
गुणायतन, मधुबन शिखरजी में अभूतपूर्व धर्म प्रभावना व उल्लास के साथ सम्पन्न हुआ। click here विधान फोटो गेलरी

श्री 1008 सिद्धचक्र महामण्डल विधान
एवं
विश्व शांति महायज्ञ
30 अक्टूबर 2014 से 6 नवम्बर 2014 तक
गुणायतन, मधुबन शिखरजी

सानंद सम्पन्न

पूज्य मुनि श्री प्रमाणसागर जी महाराज एवं पूज्य मुनि श्री विराटसागर जी महाराज, ससंघ के मंगल सानिध्य में 30 अक्टूबर 2014 से 6 नवम्बर 2014 तक श्री 1008 सिद्धचक्र महामण्डल विधान एवं विश्व शांति महायज्ञ गुणायतन, मधुबन शिखरजी में अभूतपूर्व धर्म प्रभावना व उल्लास के साथ सम्पन्न हुआ। click here

श्रावक संस्कार शिविर
एवं
श्री तीर्थंकर महामंडल विधान
सानंद सम्पन्न
पूज्य मुनि श्री प्रमाणसागर जी महाराज एवं पूज्य मुनि श्री विराटसागर जी महाराज, ससंघ के मंगल सानिध्य में दिनांक 30 अगस्त 2014 से 8 सितंबर 2014 तक गुणायतन, मधुबन शिखरजी में "श्रावक संस्कार शिविर एवं श्री तीर्थंकर महामंडल विधान" अभूतपूर्व धर्म प्रभावना व उल्लास के साथ सम्पन्न हुआ। क्लिक करें

चातुर्मास 2014 - श्री गुणायतन परिसर
श्री सम्मेद शिखरजी, मधुबन
मुनि श्री १०८ प्रमाण सागर महाराज एवं मुनि श्री १०८ विराट सागर जी महाराज ससंघ का वर्षायोग 2014 स्थापना समारोह श्री गुणायतन परिसर, श्री सम्मेद शिखरजी, मधुबन, में दिनांक 13-7-2014 को अभूतपूर्व धर्म प्रभावना व उल्लास के साथ सम्पन्न हुआ। क्लिक करें...

श्री सिद्धचक्र महामण्डल विधान

09-17 मार्च 2014
वेलगछिया उपवन, हावड़ा

पूज्य मुनि श्री प्रमाणसागर जी महाराज एवं पूज्य मुनि श्री विराटसागर जी महाराज, ससंघ के मंगल सानिध्य में दिनांक 09-17 मार्च 2014 तक वेलगछिया उपवन, हावड़ा में श्री सिद्धचक्र महामण्डल विधान अभूतपूर्व धर्म प्रभावना व उल्लास के साथ सम्पन्न हुआ। क्लिक करें....
श्रीमज्जिनेन्द्र नेमीनाथ जिनबिम्ब
पंचकल्याणक महामहोत्सव
16-21 फरवरी 2014
वेलगछिया उपवन, हावड़ा
पूज्य मुनि श्री प्रमाणसागर जी महाराज एवं पूज्य मुनि श्री विराटसागर जी महाराज, ससंघ के मंगल सानिध्य में दिनांक 16-21 फरवरी 2014 तक वेलगछिया उपवन, हावड़ा में श्रीमज्जिनेन्द्र नेमीनाथ जिनबिम्ब पंचकल्याणक महामहोत्सव अभूतपूर्व धर्म प्रभावना व उल्लास के साथ सम्पन्न हुआ। ....click here
श्री पंचकल्याणक महामंडल विधान
23-26 जनवरी 2014
गुलमोहर पार्क, हावड़ा
पूज्य मुनि श्री प्रमाणसागर जी महाराज एवं पूज्य मुनि श्री विराटसागर जी महाराज, ससंघ के मंगल सानिध्य में दिनांक 23-26 जनवरी 2014 तक गुलमोहर पार्क, हावड़ा, कोलकाता में श्री पंचकल्याणक महामंडल विधान का भव्य आयोजन अभूतपूर्व धर्म प्रभावना व उल्लास के साथ सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर परम पूज्य मुनि श्री के मुखारविंद से दिव्य देशना "चार दिवसीय अमृत प्रवचन माला" ने जन जन के हृदय को झंकृत कर दिया।....click here

भव्य पिच्छिका परिवर्तन समारोह 2013

गुणायतन एवं श्रीसेवायतन महाअधिवेशन

कोलकाता (प.बं.)

पूज्य मुनि श्री प्रमाणसागर जी महाराज एवं पूज्य मुनि श्री विराटसागर जी महाराज, का भव्य पिच्छिका परिवर्तन समारोह 14-15 दिसंबर, 2013 को सानंद सम्पन्न हुआ।click here
img

आचार्य श्री ज्ञानसागर जी स्मारक डाक टिकट जारी क्लिक करें

 

भव्य पंचकल्याणक प्रतिष्ठा

विश्व शांति महायज्ञ

एवं

गजरथ महोत्सव:

25 मई से 31 मई 2013

हजारीबाग (झारखंड)

हजारीबाग में ऐतिहासिक पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव सम्पन्न

संत शिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के परमप्रभावक शिष्य निर्ग्रंथ गौरव परम पूज्य मुनिश्री 108 प्रमाणसागर जी महाराज की जन्मस्थली हजारीबाग में 25 मई से 31 मई 2013 तक भव्य पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव एवं विश्व शांति महायज्ञ गजरथ के साथ, आचार्य गुरुवर की असीम कृपा एवं आशीर्वाद से अभूतपूर्व धर्म प्रभावना व उल्लास के साथ सम्पन्न हुआ । परम पूज्य मुनिश्री 108 प्रमाणसागर जी महाराज एवं मुनिश्री विराट सागर जी महाराज के  पावन सानिध्य एवं ससंघ ब्र॰ शांतिलाल बाबा जी एवं ब्र॰ रोहित भैया जी की समुपस्तिथि तथा बा॰ ब्र॰ प्रदीप भैया जी के प्रतिष्ठाचार्यत्व में यह आयोजन सम्पन्न हुआ. झारखण्ड राज्य के प्रथम गजरथ महोत्सव में लोगों का उत्साह देखते ही बनता था । जैन स्कूल हजारीबाग के ग्राउंड में भव्य पाण्डाल का निर्माण किया गया । ज्ञातव्य हो कि हजारीबाग स्थित बाडम बाज़ार जैन मंदिर का जीर्णोद्धार का कार्य पूर्ण हो गया है। भव्य जिनालय में 9 वेदी एवं चौबीसी सहित तीन उत्तुंग शिखर दसों दिशाओं में जिन धर्म का यशोगान फैला रहें हैं। देश के सभी त्यागी-व्रतियों - श्रेष्ठियों ने इस महामहोत्सव में भाग लिया. दयोदय दिव्य घोष – टीकमगढ़, म्यूज़िकल ग्रुप टीकमगढ़, अशोकनगर, पथरिया, ललितपुर आदि स्थानो से भी दिव्य घोषों ने इस महा महोत्सव में अपनी-अपनी स्वर लहरियाँ बिखेरीं । सभी समाज वालों ने चाहे जैन हो या अजैन के साथ ही स्थानीय समाज के सभी वर्ग के सदस्यों, महिला मण्डल, नवयुवक मण्डल आदि सभी ने एकजुट होकर इस आयोजन को सफल बनाया। परम पूज्य महाराज श्री की दिव्य देशना ने जन जन के हृदय को झंकृत कर दिया। क्लिक करें.

 

हजारीबाग में हुआ
भव्य मंगल प्रवेश

संत शिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के परमप्रभावक शिष्य निर्ग्रंथ गौरव परम पूज्य मुनिश्री 108 प्रमाणसागर जी महाराज एवं पूज्य मुनिश्री 108 विराटसागर जी महाराज ससंघ का भव्य मंगल प्रवेश धर्मनगरी हजारीबाग में अपूर्व उल्लास एवं उमंग के साथ हुआ। पूज्य मुनिश्री की जन्मस्थली होने से श्रद्धालुओं मुनिश्री की आगवानी के प्रति विशेष उत्साह था।हजारों स्त्री पुरुष अपने हाथों में केशरिया ध्वज लेकर कतारवद्ध होकर शोभायात्रा में चल रहे थे। जगह जगह मुनि संघ की आरती उतारी गई , पाद प्रक्षालन किया गया। मुनिश्री के साथ संघस्थ ब्र॰ शांतिलाल बाबा जी एवं ब्र॰ रोहित भैया जी भी शोभा यात्रा में शामिल थे। आसपास के जैन समाज के साथ स्थानीय जनता में भी विशेष उत्साह था ।

ज्ञातव्य हो कि हजारीबाग स्थित बाडम बाज़ार जैन मंदिर के नवनिर्माण का कार्य पूर्ण हो गया है। आचार्य गुरुवर की असीम कृपा एवं आशीर्वाद से इस भव्य जिनालय का पंच कल्याणक आगामी 25 मई से 31 मई 2013 तक भव्य पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव एवं विश्व शांति महायज्ञ गजरथ के साथ सम्पन्न होगा। परम पूज्य मुनिश्री 108 प्रमाणसागर जी महाराज एवं मुनिश्री विराट सागर जी संघ सहित इसी कार्यक्रम के निमित्त मधुबन शिखरजी से बिहार करके हजारीबाग स्थित बाडाम बाजार मंदिर जी में प्रवेश किये । प्रवेश के उपरांत मंदिरजी की शोभा देखकर महाराज श्री ने कहा कि यह मंदिर मेरी कल्पनाओं से भी सुंदर है। 9 वेदी, वर्तमान चौबीसी सहित तीन उत्तुंग शिखर युक्त यह मंदिर पूर्वाञ्चल का पहला मंदिर है। मुनिश्री ने श्रावकों को प्रेरित करते हुए कहा कि जितना सुंदर मंदिर बना है, पंचकल्याणक भी उतना ही भव्य होना चाहिए।

26 वाँ मुनि दीक्षा दिवस
परम पूज्य 108 मुनि श्री प्रमाणसागर जी महाराज का 26 वाँ मुनि दीक्षा दिवस, दिनांक 23 अप्रेल 2013 को बहुत ही भक्तिभाव पूर्वक मनाया गया. विस्तृत समाचार के लिये क्लिक करें.
श्रीसिद्धचक्र महामण्डल विधान

शिखरजी गुणायतन - संत शिरोमणी आचार्य श्री विद्या सागर जी महाराज के परम प्रभावक शिष्य मुनि श्री 108 प्रमाणसागर जी महाराज एवं मुनि श्री 108 विराटसागर जी महाराज के पावन सानिध्य में तीर्थराज श्री सम्मेद शिखर जी में निर्माणधीन गुणायतन में श्रीसिद्धचक्र महामण्डल विधान का भव्य शुभारम्भ श्री चन्द्रशेखर विलासराव उदगीरकर जैन पुना के कर कमलों से ध्वाजारोहण पूर्वक हुआ।
तीर्थराज पर अष्टान्हिक पर्व के अवसर पर होने वाला यह सिद्धचक्र महामण्डल विधान मूल संस्कृत में प्रथम बार हुआ है इसका समस्त विधि - विधान प्रख्यात प्रतिष्ठाचार्य ब्र. प्रदीप भैया एवं संघस्थ बा. ब्र. रोहित भैया जी के कुशल निर्देशन में सम्पन हुआ, संस्कृत का मूल विधान होने के कारण त्यागी-व्रतियों में भी विशेष उत्साह रहा। शताधिक इन्द्र - इन्द्राणियों के साथ अनेक ब्र. भार्इ - बहन इसमें सम्मिलित हुये, जिसमे ब्र. संजय भैया जी की भागीदारी प्रमुख रूप से रही है।
विधान के सौधर्म इन्द्र अशोक कुमार ठेकेदार अलवर, कुबेर महावीर प्रसाद सौगानी रांची, महायज्ञ नायक हेमन्त नेहा हाटपिपल्या, अखण्ड दीप प्रज्वलन मुनि श्री की अनन्य भक्त श्रीमती चंद्रकला पाटनी रांची ने किया।
संस्कृत के इस मूल विधान की सबसे बड़ी विशेषता यह रही कि इसके प्रत्येक मंत्र का उच्चारण परम पूज्य मुनि श्री जी के मुखारविंद से हुआ। संस्कृत का विधान होने के बाद भी इन्द्र-इन्दाणियों में उत्साह दिनों दिन बढ़ता ही रहा।
गुणायतन के अध्यक्ष श्री विनोद काला कोलकाता एवं श्री बाबुलाल पहाड़े हैदराबाद ने भी इस विधान में सम्मलित होकर अपनी ओर से प्रभु चरणों में अर्घ्य समर्पण किया । अन्तिम दिन विश्व शांति के हेतू पूर्णाहूति से इस विधान का उल्लासपूर्वक समापन हुआ। क्लिक करें.

श्रीमज्जिनेन्द्र जिनबिम्ब पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव, धुलियान
संस्कार प्रणेता परम पूज्य 108 मुनि श्री प्रमाणसागर जी महाराज एवं प. पू. मुनि श्री 108 विराट सागर जी महाराज ससंघ के पावन सानिध्य में धुलियान , पश्चिम बंगाल में दिनांक 21-27 जनवरी 2013 तक श्रीमज्जिनेन्द्र जिनबिम्ब पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव समारोह धूमधाम से सम्पन्न हुआ. विस्तृत समाचार के लिये क्लिक करें.
भव्य पिच्छिका परिवर्तन समारोह

संस्कार प्रणेता परम पूज्य 108 मुनि श्री प्रमाणसागर जी महाराज एवं प. पू. मुनि श्री 108 विराट सागर जी महाराज ससंघ का भव्य पिच्छिका परिवर्तन समारोह दिनांक 16 दिसम्बर 2012 को गुणायतन परिसर, सिद्धक्षेत्र श्री सम्मेदशिखरजी (झारखंड) में बहुत ही उत्साह एवं आनंदपूर्वक सम्पन्न हुआ। अधिक जानने के लिये क्लिक करें.... कार्यक्रम

श्रावक संस्कार शिविर
एवं
तत्त्वार्थ सूत्र महामंडल विधान

संस्कार प्रणेता प. पू. मुनि श्री 108 प्रमाण सागर जी महाराज एवं प. पू. मुनि श्री 108 विराट सागर जी महाराज के पावन सानिध्य में पर्यूषण पर्व के अवसर पर श्रावक संस्कार शिविर एवं तत्त्वार्थ सूत्र महामंडल विधान का आयोजन दिनांक 19-09-2012 से 28-09-2012 तक बहुत ही उत्साह एवं आनंदपूर्वक सम्पन्न हुआ। क्लिक करें.

पावन वर्षायोग 2012

झूमरी तलैया कोडरमा

परम पूज्य 108 मुनि श्री प्रमाणसागर जी ससंघ का पावन वर्षायोग (चातुर्मास) 2012 कोडरमा (झारखंड) में स्थापित

धन्य व पावन नगरी हो जाती है वहां !
दिगम्बर संतो के भव्य चातुर्मास होते हैं जहाँ !!

संत शिरोमणी आ. श्री 108 विद्यासागर जी महाराज के परम प्रभावक शिष्य संस्कार प्रणेता प. पू. मुनि श्री 108 प्रमाण सागर जी महाराज एवं प. पू. मुनि श्री 108 विराट सागर जी महाराज का पावन वर्षायोग मंगल कलश स्थापना समारोह दिनांक 8 जुलाई 2012 को धर्म नगरी धर्म नगरी कोडरमा में बहुत ही उत्साह एवं आनंदपूर्वक सम्पन्न हुआ।

“वडभागन जोगन वसे” वाली कहावत चरितार्थ करते हुए झारखण्ड की धर्म प्राण नगरी कोडरमा में कर्इ वर्षो के अथक प्रयास एवं भावों की निर्मलता के परिणाम स्वरूप मुनि द्वय का भव्यता पूर्वक चातुर्मास हेतु कलश स्थापन हुआ। मधुबन से कोडरमा की ओर मुनि के विहार में समाज के सभी वर्गो का उत्साह अपूर्व व ऐतिहासिक था। कलश स्थापन में स्थानीय एवं देश के कोने कोने से पधारे भक्तगण एवं विद्वत जनों का अपार समूह उपस्थित था। कार्यक्रम की शुरूआत मंगल ध्वजारोहण से हुर्इ जिसका श्रेय समाज श्रेष्ठी दानवीर श्री अशोक जी पाण्डया गिरिडीह वालो को प्राप्त हुआ। भव्य पंडाल एवं आकर्षक ढंग से सुसज्जित मंच का उद्घाटन परम मुनि भक्त श्री प्रकाश जी सेठी रांची वालो के कर कमलों से हुआ। मंगल दीप प्रज्वलन गुरुदेव के अनन्य भक्त श्री विनोद जी गंगवाल (पप्पू) साड़म निवासी के द्वारा की गर्इ। शास्त्र भेंट भोपाल से पधारे मुनि भक्त गण श्री अजय जैन, अनुभव सराफ, विकास गोधा एवं साडम निवासी श्रीमति महावीरी देवी पाटोदी द्वारा की गर्इ । पाद प्रक्षालन का श्रेय कन्नोज निवासी परम मुनि भक्त श्री भानु प्रताप सिंह एवं गुणायतन के महामंत्री गिरिडीह निवासी श्रीमान अशोक जी पाण्डया को प्राप्त हुआ । भव्य चातुर्मास के प्रथम मंगल कलश स्थापना का सौभाग्य परम भक्त श्रीमान निर्मल कुमार दीपक कुमार सेठी अंडगाबाद (प. बंगाल) निवासी को प्राप्त हुआ।

द्वितीय मंगल कलश स्थापना का श्रेय अहमदाबाद निवासी श्रीमान रशिम कांत जी रतन जी शाह को मिला एवं तृतीय मंगल कलश श्रीमान महावीर प्रसाद जी राजेश जी सेठी सरिया एवं चातुर्मास समिति के संयोजक परम मुनि भक्त श्री चुन्नीलाल प्रदीप जी छाबड़ा के द्वारा संयुक्त रूप से स्थापित किया गया। मुनि द्वय की भव्य मंगल आरती जबलपुर से पधारे  अरविन्द राजा एवं राय सेठ चंन्द्र कुमार एवं शैलेष आदिनाथ आदि भक्तों के द्वारा की गर्इ।

उल्लेखनीय है यह वर्षपूज्य मुनि श्री प्रमाण सागर जी का रजत दीक्षा वर्ष है जो सम्पूर्ण भारतवर्ष में प्रमाण प्रवर्द्धोत्सव के रूप में अनेक प्रभावक कार्यक्रमों सहित मनाया जा रहा हैं। झारखण्ड बंगाल बिहार उड़ीसा गुजरात आसाम दिल्ली उतरप्रदेश राजस्थान मध्यप्रदेश आदि प्रान्तों से हजारों श्रद्वालु श्रामण्य की रजत यात्रा के इस ऐतिहासिक 25वें वर्षायोग स्थापना में गुरू भत्ति हेतु पधारे । सभी ने गुरूवर के प्रति भक्तिपूर्ण विनयाजंलि अर्पित की।

सभी समागत अतिथियों का भावभीना स्वागत श्री माणिक चन्द जी सेठी अध्यक्ष एवं सुशील जी छाबड़ा मंत्री एवं प्रदीप छाबड़ा (पप्पू) संयोजक चातुर्मास समिति ने किया । कार्यक्रम का सुव्यवस्थित एवं सफल संचालन ब्र. नितिन भैया जी ने किया।

पूज्य मुनि श्री ने सभी को मंगल आशिर्वाद प्रदान करते हुए अपने आर्शिवचनों में कहा: चातुर्मास केवल साधुओं का ही नही श्रावकों का भी होता हैं। चातुर्मास साधुओं की साधना और श्रावकों की आराधना का महापर्व है इस अवधि में श्रावक धर्म का परिपालन करते हुए गुरू सानिध्य का लाभ लेते हुए जीवन सार्थक करें ऐसे क्षण जीवन में अति पुण्य से प्राप्त होते हैं, यही चातुर्मास की सार्थकता है।

पू. मुनि श्री प्रमाणसागर जी एवं मुनि श्री विराटसगार जी ब्र. शान्तिलाल बाबाजी एवं ब्र. भैया रोहित जी संघ सहित श्री दिगम्बर जैन नया मन्दिर जी पानी टंकी रोड झुमरी तलैया में विराजमान रहेंगे।

प्रेषक:- वीरेन्द कुमार जैन छाबड़ा ;09934050345 (कोषाध्यक्ष चातुर्मास समिति, कोडरमा)

9 अप्रेल से 26 मई 2012
गुणायतन परिसर
श्री सम्मेदशिखर जी
श्री भक्तामर महामण्डल विधान (48 दिवसीय) एवं विश्वशांति महायज्ञ
अधिक जानने के लिए क्लिक करें.
प्रमाण प्रवर्द्धनोत्सव
...श्रामण्य की रजत यात्रा
सिद्ध क्षेत्र श्री सम्मेद शिखर जी में भगवान महावीर जयंती के पावन अवसर पर पूज्य मुनि श्री प्रमाणसागर जी महाराज का 25 वाँ दीक्षा दिवस प्रमाण प्रवर्द्धनोत्सव के रूप में उल्लास पूर्वक मनाया गया. अधिक जानने के लिए क्लिक करें.
श्री सिद्धचक्र महामण्डल विधान
पूज्य मुनि श्री प्रमाणसागर जी एवं मुनि श्री विराटसागर जी महाराज ससंघ के पावन सानिध्य में,अष्टान्हिका पर्व में दिनांक 1-3-2012 से 8-3-2012 तक गुणायतन (श्री सम्मेद शिखर जी) में श्री सिद्धचक्र महामण्डल विधान का भव्य आयोजन सानन्द सम्पन्न हुआ.

आचार्य विद्यासागर जी महाराज का 40वां आचार्य पदारोहण दिवस,
मानस्तंभ का महामस्तिकाभिषेक

एवं
मुख्य शिखर का ध्वजारोहण समारोह

पूज्य मुनि श्री प्रमाणसागर जी एवं मुनि श्री विराटसागर जी महाराज ससंघ के पावन सानिध्य में, आचार्य विद्यासागर जी महाराज का 40वां आचार्य पदारोहण दिवस, मानस्तंभ का महामस्तिकाभिषेक एवं मुख्य शिखर का ध्वजारोहण समारोह श्री सिद्धक्षेत्र पावापुरी जी में दिनांक 12 एवं 13 नवम्बर 2011 को अभूतपूर्व धर्म प्रभावना एवं हर्षोल्लास के साथ सम्पन्न हुआ. अधिक जानने के लिए क्लिक करें.

भगवान महावीर महानिर्वाण महोत्सव

*************

 

भगवान महावीर महानिर्वाण महोत्सव दिनांक 26 अक्टूबर 2011को श्री सिद्धक्षेत्र पावापुर जी (बिहार) में पूज्य मुनि श्री प्रमाणसागर जी एवं मुनि श्री विराटसागर जी महाराज ससंघ के पावन सानिध्य में,अभूतपूर्व धर्म प्रभावना के साथ सम्पन्न हुआ. अधिक जानने के लिए क्लिक करें.

पूज्य मुनि श्री प्रमाणसागर जी एवं मुनि श्री विराटसागर जी महाराज का पिच्छिका परिवर्तन समारोह 25 अक्टूबर 2011 को श्री सिद्धक्षेत्र पावापुर जी (बिहार) में सम्पन्न हुआ. अधिक जानने के लिए क्लिक करें

पंच तीर्थ (राजगिर, कुण्डलपुर, पावापुर,चम्पापुर, मंदारगिरी) की यात्रा कैसे करें -जानने के लिए क्लिक करें पंचतीर्थ

तीर्थ वंदना महोत्सव
पूज्य मुनि श्री प्रमाणसागर जी एवं मुनि श्री विराटसागर जी महाराज ससंघ के पावन सानिध्य में, मोक्षस्थली वन्दन करने वाली महिलाओं का भव्य राष्ट्रीय अभिनन्दन समारोह,श्री सिद्धक्षेत्र पावापुर जी (बिहार) में भव्य प्रभावना के साथ दिनांक 16 -17 अक्टूबर 2011 को सम्पन्न हुआ. अधिक जानने के लिए क्लिक करें.