Posts By :

admin

261 261 admin

दृष्टि में मर्म जीवन में धर्म

बीज की सार्थकता वृक्ष के रूप में विकसित होकर फलवान बनने में हैं। बीज धरती के गर्भ में समाहित होकर अंकुरित होता है, पल्लवित होता है, पुष्पित होता है, वृक्ष…

read more
261 261 admin

जैन धर्म में पाँच रंगों का सिद्धान्त

जैन धर्म में पाँच रंगों का सिद्धान्त ध्वज क्या और क्यों   किसी भी देश, सेना, संस्था, समूह के अलावा किसी अवसर विशेष या सम्प्रदाय विशेष के प्रति निष्ठा प्रदर्शित…

read more
261 261 admin

मार्कशीट पर नंबर या सीख

मार्कशीट पर नंबर या सीख हर माता पिता को बच्चे की मार्कशीट पर नंबर तो चाहिए लेकिन बच्चे ने क्या सीखा, उसके अंदर की क्षमता क्या है इसके बारे में…

read more
150 150 admin

मुनि प्रमाण सागर जी केशलोंच

●◆●◆▬▬ஜ۩ प्रामाणिक ۩ஜ▬▬●◆●◆ 📯 दि. 28 जनवरी 2019 📯 श्री दिगम्बर जैन सिद्ध क्षेत्र बावनगजा जी (चूलगिरी), बड़वानी, मध्यप्रदेश में परम पूज्य मुनिश्री 108 प्रमाणसागर जी महाराज ने मौन व्रत…

read more
150 150 admin

भावना योग का चमत्कार – क्या हैं भावना योग?

भावना योग का महत्व जैन साधना में जो ध्यान है वह चित्त की एकाग्रता का नाम है और वहां तो यह कहा गया कि यदि तुम ध्यान की गहराई में…

read more
150 150 admin

भावना योग (With Instructions)

भावना योग का महत्व जैन साधना में जो ध्यान है वह चित्त की एकाग्रता का नाम है और वहां तो यह कहा गया कि यदि तुम ध्यान की गहराई में…

read more
150 150 admin

विज्ञान और सम्यक ज्ञान में अंतर

विज्ञान और सम्यक ज्ञान में अंतर Difference between Science and Right Knowledge विज्ञान शब्द का प्रयोग ज्ञान की ऐसी शाखा के लिये भी करते हैं, जो तथ्य, सिद्धान्त और तरीकों…

read more
261 261 admin

सूर्यास्त से पूर्व भोजन

सूर्यास्त से पूर्व भोजन लाभ या हानि ? भोजन को हमेशा सूर्यास्त पूर्व ही करना चाहिए, क्योंकि रात्रि भोजन से अनिवार्य रूप से हिंसा होती है। सूर्य की अल्ट्रा वायलेट…

read more
150 150 admin

स्याद्वाद का सही अर्थ!

स्याद्वाद का सही अर्थ! Correct meaning of Syadwad!

read more