अनाथाश्रम में गरीब और वृद्धाश्रम में पैसे वाले
150 150 admin

अनाथाश्रम में गरीब और वृद्धाश्रम में पैसे वाले Poor in orphanage and rich in old age home कुछ बच्चे ऐसे भी है जो किसी की एक प्रेम और सहानुभूति भरी नजर के लिए तरसते हैं और अनाथाश्रम में रहते हैं । वहीँ दूसरी तरफ कुछ वृद्ध ऐसे हैं जिनके पास सब कुछ है, जिन्हे सेवा…

पढाई में एकाग्रता कैसे लायें
150 150 admin

पढाई में एकाग्रता कैसे लायें How to concentrate while studying एकाग्रता का मतलब है आप अपने मन को एक ही समय में एक ही जगह पर लगाए। एकाग्रता से आप बहुत ही अच्छे तरीके से यानि कि कम समय में ज्यादा पढाई करके ज्यादा याद रख सकते हैं। लेकिन पढाई पर एकाग्रता लाना इतना आसान…

बच्चो की परिवार के प्रति क्या जिम्मेदारी
150 150 admin

बच्चो की परिवार के प्रति क्या जिम्मेदारी Children’s responsibility towards their family माता-पिता बच्चों के लालन-पालन में कोई कमी नहीं करते हैं। बच्चों कि परवरिश में वेअपना जीवन निकाल देते हैं । तो ऐसे में बच्चों की भी अपने परिवार की और जिम्मेदारी बनती है। सुनिए मुनि श्री प्रमाण सागर द्वारा कि बच्चो की परिवार…

बच्चो को धर्म और व्यवहार में अंतर कैसे बतायें
150 150 admin

बच्चो को धर्म और व्यवहार में अंतर कैसे बतायें Living religious life with practical approach आज के युग में बच्चों को धर्म कि शिक्षा देना अति आवश्यक है। साथ ही में उन्हें ये भी बताना जरुरी है के वो इस शिक्षा को अपने जीवन में कैसे उतारें। सुनिए मुनि श्री प्रणाम सागर जी द्वारा कि बच्चो…

क्या जो है, वो पर्याप्त है?
150 150 admin

क्या जो है, वो पर्याप्त है? What all we have is sufficient enough? आज की भाग-दौड़ भरी प्रतिस्पर्धा के जीवन में हम लोग कहीं न कहीं “पर्याप्त” शब्द का मतलब भूल से गए हैं। हमे ये ज्ञात होने चाहिए की हमारे लिए कौनसी चीज़ कितनी पर्याप्त है और हमारे पास ऐसा क्या है जो पर्याप्त…

धार्मिक कार्य मे आकुलता नहीं उत्साह रखें।
150 150 admin

धार्मिक कार्य मे आकुलता नहीं उत्साह रखें। How to stay enthusiastic in religious activities धार्मिक कार्य करने से सुख कि अनुभूति होती है, मन और दिमाग को शांति मिलती है इसलिए धार्मिक कार्यों को अच्छे भावों से, उत्साह के साथ संपन्न करना चाहिए नाकि आकुलता से। कैसे हम धार्मिक कार्यों में उत्साह रखें आकुलता नहीं…

मोह, वात्सल्य और करुणा में अंतर
150 150 admin

मोह, वात्सल्य और करुणा में अंतर Difference between attachment, affection and sympathy मोह, वात्सल्य और करुणा यह तीन ऐसी भावनाएं हैं जिनके चारों और एक व्यक्ति का जीवन चलता है पर फिर भी हम तीनों का अर्थ एवं अंतर समझने में असमर्थ हैं । सुनिए मुनि श्री प्रमाण सागर द्वारा मोह, वात्सल्य और करुणा में…

पुरषार्थ का पाप और पुण्य पर प्रभाव
150 150 admin

पुरषार्थ का पाप और पुण्य पर प्रभाव Influence of efforts on sins and virtues “बुरे कर्मो का पुंज पाप है और अच्छे कर्मो का संग्रह पुण्य। पुण्य का पुरस्कार सुख है और पाप का दु:ख। परोपकार करने से पुण्य और परपीडन से पाप मिलता है। सुनिए मुनि श्री प्रमाण सागर द्वारा पुरषार्थ का पाप और…

सफलता और अच्छा स्वास्थय कैसे पाएं?
150 150 admin

सफलता और अच्छा स्वास्थय कैसे पाएं? How to achieve success and good health? अच्छा स्वास्थय सफलता और समृद्धि का आधार है।यदि व्यक्ति का स्वास्थ्य अच्छा है तो कोई भी व्यक्ति कठिन से कठिन परिस्तिथि में भी सफलता प्राप्त कर सकता है । सुनिए मुनि श्री प्रमाण सागर द्वारा किसफलता और अच्छा स्वास्थय कैसे पाएं?

पद, गुण और आचरण में श्रेष्ठ कौन?
150 150 admin

पद, गुण और आचरण में श्रेष्ठ कौन? What is superior amongst position, values and conduct? हम सभी के पास कोई न कोई पद होता है जिसको हम अपने गुणों से प्राप्त करते हैं और हम अपने पद को साबित अपने आचरण से करते हैं। पद, गुण और आचरण तीनों ही आवश्यक हैं पर इन सब…

Facebook
YouTube
Instagram
GOOGLE