सम्यक्त्व प्रकृति और मिश्र गुण स्थान में क्या अंतर है?

150 150 admin

शंका

दर्शन मोहनीय की सम्यक्त्व प्रकृति और मिश्र प्रकृति के गुण स्थान में क्या अंतर है?

विडियो

समाधान

सम्यक्त्व प्रकृति और मिश्र में उतना ही अंतर हैं जितना कि एक श्रद्धालु में और एक मिश्र परिणति  रखने में। मिश्र प्रकृति, सम्यक्त्व और मिथ्यात्व रूप दोनों परिणामों को एक साथ रखती है, जबकि सम्यक प्रकृति में सम्यक दर्शन होता है, मिथ्यादर्शन नहीं होता। बस वो सम्यक्त्व में चंचलता रखती हैं लेकिन सम्यक्त्व को प्रभावित नहीं होने देती।

Edited by: Pramanik Samooh

Leave a Reply