संगति को संस्कार पर हावी ना होने दें

150 150 admin

संगति को संस्कार पर हावी ना होने दें
Don’t let good values be affected by friends

कहते हैं कि व्यक्ति योगियों के साथ योगी और भोगियों के साथ भोगी बन जाता है। व्यक्ति को जीवन के अंतिम क्षणों में गति भी उसकी संगति के अनुसार ही मिलती है। संगति का जीवन में बड़ा गहरा प्रभाव पड़ता है। संगति से मनुष्य जहां महान बनता है, वहीं बुरी संगति उसका पतन भी करती है। मुनि श्री प्रमाण सागर जी बता रहे हैं संगति को संस्कार पर हावी ना होने दें

Share with family/friends:

Leave a Reply