क्या ओम नमः स्वात्म देवायः की जाप देना उचित है?

150 150 admin

शंका

ॐ नमः स्वात्म देवायः की जाप दे सकते हैं?

विडियो

समाधान

ओम नमः स्वात्म देवायः की जाप करने से स्वात्मा को प्राप्त नहीं करोगे। इस भूमिका में किसी  आराध्य की आराधना करें, जाप हमेशा द्वैत में होता है और द्वैत में हमारे सामने किसी आदर्श को होना चाहिए। आप आराधक हो, आराध्य नहीं। इसलिए उत्तम यही है कि इतने शुद्ध आध्यात्म की ओर मत भागे, जिनेंद्र भगवान की शरण में जाएँ। कुछ लोग इतने अध्यात्मनिष्ठ हो गए कि उनको “जय जिनेंद्र” बोलना नहीं रुझता, शुद्धात्म सत्कार बोलने लगे हैं। अरे! ऐसे सत्कार नहीं होता! शुद्धात्मा को पर का सत्कार ही नहीं करना पड़ता। जब तक पर का आलंबन है तब तक हमें परमेष्ठी का आलंबन लेना जरूरी है।

Edited by: Pramanik Samooh

Leave a Reply