आत्महत्या महापाप

150 150 admin

आत्महत्या महापाप
Suicide-the most sinful act

“अक्सर जीवन के दुःख ओर असफलताओं से दुःखी होकर कई लोग आत्महत्या का मार्ग चुन लेते है, एसे लोग समझते है कि आत्महत्या कर लेने से उन्हे समस्त दुःखो से मुक्ति मिल जायेगी। सुनिए मुनि श्री प्रमाण सागर के विचार

Leave a Reply