img
दिनांक: 2017-05-27 05:08:24; वर्तमान स्थान: मुनिवर उदयपुर की ओर विहार कर रहे हैं.; आहार चर्या: 27-05-2017=> सिंघानिया युनिवर्सिटी, भटेवर (उदयपुर के नजदीक); शंका समाधान कार्यक्रम: 27-05-2017=> सिंघानिया युनिवर्सिटी, भटेवर (उदयपुर के नजदीक);
वर्तमान स्थान
Presnt Place
गुणायतन
Gunayatan
संघस्थ
Sanghastha
संत शिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के प्रमुख शिष्य, झारखंड प्रान्त के हजारीबाग शहर में जन्मे मुनि श्री प्रमाणसागर जी महाराज के किसी परिचय की आज आवश्यकता नहीं।....और अधिक
मुनि श्री प्रमाण सागर जी महाराज एवं मुनि श्री विराट सागर जी महाराज ससंघ उदयपुर (राजस्थान) को विहार कर रहे हैं.
वर्तमान स्थान
गुणस्थान जीव के भावों को मापने का पैमाना है. परम पूज्य आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के मंगल आशीर्वाद एवं परम पूज्य मुनि श्री प्रमाणसागर जी महाराज की मंगल प्रेरणा से मधुबन, सम्मेदशिखरजी में निर्मित होने जा रहे, धर्मायतन "गुणायतन" में चौदह गुणस्थानों को "दृष्य-श्राव्य-रोबोटिक्स प्रस्तुति" के माध्यम से दर्शनार्थियों को समझाया जायेगा. अधिक जानने के लिये क्लिक करें.
गुणायतन

Photo Gallary
मुनि श्री विराट सागर जी
img
मुनिश्री के मुखारविन्द से निश्रित जिन देशना .... सुनने/ डाउनलोड करने के लिये क्लिक करें.
जिनधर्म एवं जीवन व्यवहार से जुड़ी जिज्ञासाओं का समुचित समाधान:
शंका समाधान
ऑन-लाइन प्रश्न पूछने हेतू क्लिक करें.
आगम के गूढ़तम ज्ञाता, जिणवाणी के प्रखर प्रस्तोता, हिन्दी, संस्कृत, प्राकृत एवं अंग्रेजी के अधिकारी विद्वान मुनिश्री की लेखनी से जैन आगम के गूढ़ तत्त्वों की सहज-सरल-सुबोध प्रस्तुति अनेक कृतियों के माध्यम से निरंतर हो रही है। कृतियाँ डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें
तीर्थराज श्री सम्मेद शिखरजी में सर्वांगीण विकास का सम्यक् यतन
श्री सेवायतन .. अधिक जानने के लिये क्लिक करें.
श्री सेवायतन
ShriSevaytan
contact@munipramansagar.net
Hits Count -->
Updated 27-05-2017