श्री सिद्धचक्र विधान हवन विधि 

सामग्री:

  • श्रीफल – 3
  • हवनकुंड – 1
  • मिट्टी के दीपक, घी, बाती
  • मंगल कलश मांगलिक सामग्री सहित (हल्दी गाँठ, सुपारी, चावल आदि सहित)
  • मंगल दीपक – 1
  • धूप, घी, रुई, माचिस
  • कपूर
  • पुण्याह वाचन कलश – शुद्धि प्रासुक जल सहित भरा हो
  • चन्दन या केसर घिसी हुई
  • पुण्याह वाचन हेतु थाली
  • हवन हेतु गोला

ध्यान दें:

  • सभी पूर्ण स्नान के साथ हवन विधि करें
  • वस्त्रों की पूर्ण शुद्धि रखें
  • घर में अगर कर रहे हैं तो उस स्थान की पूर्ण शुद्धि करें
  • हवन के पश्चात हवन कुंडों को घर के सभी कमरों में रखें
  • हवन के पश्चात द्रव्य सामग्री श्रीफल गोला एंव हवन की राख को व्यवस्थित अवश्य करें – गौशाला या मंदिर के माली या घर के सेवकों को दे सकते हैं

Location

गुणायतन, श्री सम्मेद शिखरजी

Latest News

Video

From Our Blog