सूतक-पातक में पीढ़ियों की गणना कैसे करें?

150 150 admin
शंका

आजकल सूतक और पातक के विषय में बहुत सी भ्रांतियाँ हैं। पीढ़ी कहाँ से गिनी जाती है, और कैसे पीढ़ी बनती है, इस विषय में पर थोड़ा प्रकाश डालिये?

समाधान

सूतक-पातक के विषय में जहाँ तक पीढ़ियों के विधान की बात है, जहाँ से रक्त-संबंध प्रारम्भ होता है वहाँ से पीढ़ियाँ गिनी जाती हैं। जैसे एक पेड़ है, पेड़ की शाखा कहाँ से खुली? जिस शाखा से पेड़ की टहनी आई, वहाँ से उसको जोड़ते हैं। मान लीजिए, रामलाल और श्यामलाल, ये दो सगे भाई हैं और इनके पिता मान लीजिए आमलाल हैं, तो आमलाल के रामलाल और श्यामलाल हुए। अब रामलाल का पोता हुआ तो रामलाल की तीसरी पीढ़ी क्योंकि रामलाल स्वयं, उसका बेटा, फिर पोता लेकिन श्यामलाल के लिए वह चौथी पीढ़ी हो जाएगी क्योंकि श्यामलाल के पास जो खून है वो आमलाल का है। तो आमलाल, श्यामलाल, फिर उनका बेटा, फिर उनका पोता। यदि दो सगे भाईयों में एक का पौत्र हो जाए, तो दूसरे के लिए एक पीढ़ी ज्यादा हो जाती है, ऐसे पीढ़ी का नाम ध्यान रखना चाहिए।

Share

Leave a Reply