पटाखों से हिंसा व दुष्प्रभाव

150 150 admin

पटाखों से हिंसा व दुष्प्रभाव
Ill-effects of fire crackers

पटाखों की धमक हमारे चेहरे पर जरूर मुस्कान लाती है, पर यह मुस्कान हमारी बर्बादी का पूर्वाभ्यास होती है। इसका आभास हमें उस वक्त नहीं होता जब हम पटाखों की रोशनी में खो जाते हैं। आजकल के युवा पटाखे खरीदते समय उसकी तीखे शोर व प्रकाश पर ध्यान देते हैं। पटाखे के रूप में हम पैसों की बर्बादी व जान को जोखिम में डालने का पूरा-पूरा सामान खुशी-खुशी घर लाते हैं। मुनि श्री प्रमाण सागर जी बता रहे हैं पटाखों से हिंसा व दुष्प्रभाव

Leave a Reply