उत्तम सत्य धर्म

इस पेज पर आपको प्राप्त होंगे मुनि श्री प्रमाण सागर जी के उत्तम सत्य धर्म पर आधारित
उत्तम प्रवचन, उत्तम Quotes, उत्तम लेख
उत्तम क्लिप्स और बच्चों के लिए उत्तम स्टोरी

मनुष्य अनेक कारणों से असत्य बोला करता है, उनमें से एक तो झूठ बोलने का प्रधान कारण लोभ है। लोभ में आकर मनुष्य अपना स्वार्थ सिद्ध करने के लिये असत्य बोला करता है। असत्य भाषण करने का दूसरा कारण भय है। मनुष्य को सत्य बोलने से जब अपने ऊपर कोई आपत्ति आती हुई दिखाई देती है। अथवा अपनी कोई हानि होती दिखती है। उस समय वह डरकर झूठ बोल देता है, झूठ बोलकर वह उस विपत्ति या हानि से बचने का प्रयत्न करता है।

उत्तम प्रवचन

उत्तम सत्य धर्म - झूठ को त्यागो
उत्तम सत्य

उत्तम सूक्तियाँ

  • विश्वसनीय और प्रामाणिक वह होता है जिसके हृदय में सरलता हो, आचरण में सच्चाई हो, और मन में सत्य के प्रति निष्ठा हो।
  • सत्य का मूल सरलता है और असत्य का मूल क्रोध लोभ आदि विकार है।
  • सत्य ही विश्वास का आधार है।
  • अप्रिय सत्य और प्रिय झूँठ मत बोलो।

उत्तम लेख